Shri Prannath Gyanpeeth-     मासिक पत्रिका आर्थिक सेवा सम्पर्क करें
                                                                 




मुख्य संस्था अध्यात्म निजानन्द दर्शन विजयाभिनन्द बुद्ध ब्रह्मवाणी (तारतम) चितवनि महान व्यक्तित्व साहित्य प्रवचनमाला सुन्दरसाथ
  निजानन्द दर्शन
     प्रकृति की उत्पत्ति व लय 
     इस जगत में नहीं है परब्रह्म 
     ब्रह्म का स्वरूप कैसा है ? 
     तीन पुरुष और उनकी लीला » 
     जीव और आत्मा में भेद 
     तीन सृष्टियां 
     श्री निजानन्द सम्प्रदाय » 
          विशेषताएँ 
          सिद्धान्त 
          पद्धति 
     निजानन्द साहित्य 
     विश्व को निजानन्द दर्शन की देन 
 
 
 
 
  निजानन्द दर्शन  »  श्री निजानन्द सम्प्रदाय
परब्रह्म के आनन्द अंग श्री श्यामा जी द्वारा प्रारम्भ किये गये तथा अक्षरातीत श्री प्राणनाथ जी द्वारा फैलाये गये श्री निजानन्द सम्प्रदाय के विषय में अधिक जानने के लिए पढ़ें-
१. विशेषताएँ
२. सिद्धान्त
३. पद्धति

प्रस्तुतकर्ता- ज्ञानपीठ छात्र समूह  
   सर्वाधिकार सुरक्षित © श्री प्राणनाथ ज्ञानपीठ सरसावा