Shri Prannath Gyanpeeth-     मासिक पत्रिका आर्थिक सेवा सम्पर्क करें
                                                                 




मुख्य संस्था अध्यात्म निजानन्द दर्शन विजयाभिनन्द बुद्ध ब्रह्मवाणी (तारतम) चितवनि महान व्यक्तित्व साहित्य प्रवचनमाला सुन्दरसाथ
  संस्था
     संस्थापक 
     उद्देश्य 
     स्थिति एवं दिव्य वातावरण 
     कार्यशैली
     संसाधन » 
          निर्मित भवन 
          ज्ञानपीठ में प्रेस की स्थापना
          प्रस्तावित भवन 
          भावी योजनाएँ 
     प्रगति »
          शिक्षा 
          कक्षा के चित्र 
     ज्ञानपीठ की शाखाएं 
 
 
 
 
  संस्था  »  प्रगति  »  शिक्षा

शिक्षा

श्री प्राणनाथ ज्ञानपीठ में शिक्षण कार्य मई २००६ में कुछ विद्यार्थियों के साथ प्रारम्भ हुआ । वर्ष २००९ में इस परिसर में विभिन्न प्रान्तों के ४६ बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे थे । ज्ञानपीठ में शिक्षा ग्रहण करने वाले प्रत्येक विद्यार्थी का सम्पूर्ण खर्च ज्ञानपीठ ही देता है ।

शिक्षा ग्रहण करते हुए अभी तीन वर्ष ही हुए थे कि तीन बच्चों ने श्रावण मास में कालिम्पोंग , लखनऊ व दार्जिलिंग में श्री बीतक चर्चा की । विशिष्ट प्रतिभा वाले दो बच्चों को संस्कृत की उच्च शिक्षा दिलवाई गई है । श्री मुखवाणी , श्री बीतक , संस्कृत के अतिरिक्त सभी छात्रों को योग , ध्यान , संगीत , कम्प्यूटर का ज्ञान भी प्रदान किया जा रहा है । सभी शिक्षार्थी आपस में बहुत शिष्ट व्यवहार करते हैं तथा रिक्त समय पुस्तकालय में व्यतीत करते हैं ।

श्री प्राणनाथ ज्ञानपीठ में सितम्बर माह में आयोजित वार्षिकोत्सव में प्रवचन, वाणी गायन तथा अन्ताक्षरी प्रतियोगिताओं में ज्ञानपीठ के छात्र ही श्रेष्ठ स्थान प्राप्त करते हैं । कुछ छात्र संस्कृत में भी प्रवचन देते हैं ।

 

प्रस्तुतकर्ता- ज्ञानपीठ छात्र समूह  
   सर्वाधिकार सुरक्षित © श्री प्राणनाथ ज्ञानपीठ सरसावा